Saturday, January 16, 2010

नारी का दर्ज़ा नर से बड़ा .........




कवि सम्मेलनों में आमतौर पर यह जुमला बोला जाता है


नारी का दर्ज़ा

यदि नर से बड़ा होता

तो पाँच सौ की घड़ी होती,

पाँच रूपये का घड़ा होता


___बात सही भी है




5 comments:

  1. सही है। दर्जा तो नारी का ही बड़ा है। आखिर वही जननी है।

    ReplyDelete
  2. मेरा तो ये मानना है कि आज की महिलाएं पुरुष से कुछ कम नहीं! इसलिए अब महिला और पुरुष में कोई अंतर नहीं बल्कि दोनों ही बराबर है!

    ReplyDelete
  3. आपकी रचना अछी लगी...अच्छा विषये है लिखते रहो
    लिखना एक महान काम है अपनी भावनाओ और ज्ञान को दुसरो
    के साथ बाँटने से मनन खुश रहता है...धन्येवाद
    http://www.aaina-e-waqt.blogspot.com

    ReplyDelete